BirthdaySpcl:विनोद मेहरा के साथ भी रह गयी रेखा की अधूरी प्रेम कहानी, स्टार के खातिर रेखा को खानी पड़ी थी चप्पल

नई दिल्ली। बॉलिवुड का एक जाना माना सितारा जो कभी इस लाइमलाइट की दुनियां में चमकता था। और इस दुनिया में रहकर उसने अपनी एक खास इमेज बनाकर रखी थी वो नाम है विनोद मेहरा(Vinod Mehra)। यह सुपरस्टार आज भले ही इस दुनियां में नही है लेकिन अपने खास अभिनय से लोगों को दिलों में हमेशा बने रहेगें। विनोद मेहरा की आज 75वीं पुण्यतीथि है। आज उनके जन्म दिन पर उनके जीवन से जुड़ी कुछ ऐसी बातों के बारे में बता रहे है जिसके बारे में शायद आप भी नही जानते होगें।

vinod-mehra-and-rekha.jpeg

विनोद मेहरा (Vinod Mehra)अपनी जिंदगी में फिल्मों से ज्यादा अपने अफेयर्स और शादी की वजह से चर्चे में बने रहे हैं। विनोद मेहरा(Vinod Mehra) ने 1950 के दशक में बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट (child Artist)से अपने करियर की शुरुआत की थी और उन्होंने 'गुरुदेव' जैसी फिल्म डायरेक्ट भी की। हालांकि ये फिल्म उनके निधन के तीन साल बाद ही रिलीज हो सकी।

विनोद मेहरा ने एक नही बल्कि तीन शादियां की थी। जिसमें कि रेखा के साथ उनका अफेयर्स काफी सुर्खियों में रहा है। खबरें तो ये भी उड़ती रहीं कि उन्होंने रेखा से शादी की थी, लेकिन रेखा ने एक इंटरव्यू में इस बात से इनकार किया था और कहा था कि वे उनके सिर्फ शुभचिंतक थे।

फिल्मी सफर
विनोद मेहरा ने लगभग 100 से अधिक फिल्मों में काम किया। वे 1958 में 'रागिनी' फिल्म में बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट नजर आए थे। 1971 में उन्होंने 'एक थी रीटा' के साथ एक्टर के तौर पर करियर शुरू किया। उनकी हिट फिल्मों में 'जानी दुश्मन', 'नागिन', 'घर', 'स्वर्ग नरक', 'कर्तव्य', 'साजन बिना सुहागन', 'एक ही रास्ता' और 'खुद्दार' जैसी फिल्मों थी। इसके अलावा 'अनुरोध', 'अमर दीप' और 'बेमिसाल' में भी उनके काम को खूब सराहा गया था।

जब राजेश खन्ना ने दी थी शिकस्त
यह बात उस समय की है जब विनोद मेहरा 1965 में आयोजित हुए ऑल इंडिया टैलेंट कॉन्टेस्ट के फाइनलिस्ट बने थे। और इस प्रतियोगिता का आयोजन यूनाइटेड प्रोड्यूसर्स और फिल्मफेयर के द्वारा किया गया था। लेकिन इस पर्तियोकि की सबसे खासियत बात यह रही कि विनोद को राजेश खन्ना के हाथों शिकस्त झेलनी पड़ी थी और रनर अप बनकर ही संतोष करना पड़ा था।

चर्चे में रही विनोद मेहरा की शादियां
विनोद मेहरा शादी के मामले में भी काफी चर्चित रहे। उन्होनें मीना ब्रॉका के साथ अरेंज्ड मैरिज की थी और शादी के तुरंत बाद ही विनोद मेहरा को हार्ट अटैक आ गया था। इस शादी के कुछ समय के बाद उनका दिल बिंदिया गोस्वामी पर आ गया और उन्होनें उनसे दूसरी शादी कर ली। लेकिन यह शादी भी ज्यादा समय तक नहीं चली और बिंदिया गोस्वामी ने विनोद से अलग होकर जे.पी. दत्ता से शादी कर ली। हालांकि इन शादियों के बाद इनके चर्चे रेखा के साथ जुड़ने लगे। जानकारी के मुताबिक कहा जाता है कि जब विनोद मेहरा शादी टूटने के बाद अकेले हुए तो उनकी नजदीकियां रेखा से हुईं। इस दौरान उन्होनें रेखा के साथ भी शादी की। हालांकि रेखा ने एक इटंरव्यू के दौरान विनोद मेहरा के साथ शादी की बात से इंकार किया।

लेकिन बताया जाता है कि जब रेखा और विनोद मेहरा कलकत्ता में शादी कर मुंबई के घर पहुंचे तो विनोद मेहरा की मां गुस्से से लाल-पीली हो गईं। रेखा अपनी सास के पैर छूने को झुकीं तो वो पीछे हट गईं और रेखा को मारने के लिए चप्पल निकाल ली थी। लेकिन रेखा ने इस बात का खंडन किया। 1988 में विनोद ने किरण से शादी कर ली और 1990 में उनका निधन हो गया. उनके एक बेटा रोहन और बेटी सोनिया है।

👉Check Out Here - Latest Update Entertainment News in Hindi

Post a Comment

0 Comments