कोरोनावायरस के चलते ऑटो कंपनियों का बेहाल, बंद हो सकता है प्रोडक्शन

नई दिल्ली: कोरोना वायरस का असर अब इकोनॉमी दिखने लगा है। ऑटोमोबाइल कंपनियों के विशेषक्षों ने पहले ही कार निर्माण पर इसके नकारात्मक असर की बात कही थी और इनकी ये बात उस वक्त सच होती नजर आई जब किआ मोटर्स ने दक्षिण कोरिया में बने तीन कारखानों की सभी प्रोडक्शन लाइनों को बंद करने का एलान किया। कंपनी का कहना है कि कार में लगने वाला तार चीन से बनकर आता है यही वजह है कि कंपनी को कारों का प्रोडक्शन बंद करना पड़ सकता है।

चीन है ऑटो पॉर्ट्स का हब-

आपको बता दें कि कार निर्माण में जितने पार्ट्स लगते हैं उनमें से ज्यादातर चीन में बनते हैं इसीलिए किसी भी और उद्योग से ज्यादा कोरोना वायरस का असर ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री पर पड़ रहा है। इसकी एक वजह ये भी है कि ऑटो उद्योग में कलपुर्जों की जरूरत काफी ज्यादा होती है। एक भी पुर्जा न होने पर कार निर्माण मुश्किल होता है और ऐसे में अगर किसी भी कंपनी का कोई भी पुर्जा चीन से आता है तो उस कंपनी का प्रोडक्शन प्रभावित होना तय है।

कार के इंजन पर भारी पड़ती हैं ड्राइवर की ये गलतियां, आप भी जान लें

लंबे समय तक बंद रहेंगी कंपनियां-

चीन में कंपनियों ने शटडाउन की अवधि को बढ़ा दिया है। निसान और पीएससी जैसी बड़ी कंपनियों ने शुक्रवार तक के कारखाने को बंद रखने का एलान किया है। इतना हीं नहीं फॉक्सवैगन, बीएमडब्ल्यू, टोयोटा और होंडा ने कहा है कि वे अगले सप्ताह अपना कारखाना खोलने की योजना बना रही हैं।

Check Out Here - Latest Update Automobile News in Hindi

Post a Comment

0 Comments