एमबीए-मैनेजमेंट डिप्लोमा कोर्स करने वालों लिए बड़ी खबर, एआईसीटीई ने जारी किया फरमान

अब एक ही कॉलेज में मास्टर्स इन बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (एमबीए) और पीजीडीएम (पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन मैनेजमेंट) (Masters in Business Administration (MBA) and PGDM (Post Graduate Diploma in Management) नहीं चलाया जा सकेगा। ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्नीकल एजुकेशन (एआईसीटीई) ने देशभर के सरकारी, निजी और डीम्ड विश्वविद्यालयों के कुलपतियों (All India Council for Technical Education (AICTE) Vice-Chancellors of government, private and deemed universities across the country) को इस संबंध में निर्देश जारी किए हैं। काउंसिल ने कहा है कि एआईसीटीई ने आईआईएम की तरह स्टेंडअलोन संस्थानों को मैनेजमेंट में डिप्लोमा कोर्स (AICTE Diploma Course in Management to Standalone Institutions Like IIMs) चलाने की मान्यता दी थी, लेकिन कुछ साल बाद एआईसीटीई के नियमों का उल्लंघन करते हुए केन्द्रीय, राज्य, निजी और डीम्ड विश्वविद्यालयों ने भी 'मैनेजमेंट प्रोग्राम' के तहत डिप्लोमा कोर्स (Central, state, private and deemed universities also have diploma courses under 'Management Program') की शुरुआत कर दी। इसलिए एआईसीटीई रेगुलेशन 2020 और अप्रूवल प्रोसेस हैंडबुक (AICTE Regulations 2020 and Approval Process Handbook) के पैरा 2.18 के तहत यह प्रावधान किया गया है कि एक ही संस्थान में एमबीए और पीजीडीएम कोर्स संचालित नहीं हो सकेंगे।

चुनाव करने की छूट
काउंसिल सदस्य सचिव प्रो.राजीव कुमार ने विश्वविद्यालयों को कहा है कि मैनेजमेंट प्रोग्राम के तहत चलाए जा रहे ऐसे पीजीडीएम कोर्स को एमबीए में बदल दिया जाए। साथ ही काउंसिल के मापदंडों का भी पालन किया जाए। ऐसे संस्थान जो किसी विश्वविद्यालय से संबद्ध हैं, उन्हें यह चुनाव करने की छूट दी गई है कि वे सभी पीजीडीएम कोर्सों को एमबीए कोर्स में कन्वर्ट कर दें या फिर स्टेंडअलोन संस्थान के तहत डिप्लोमा चलाएं, लेकिन कोई भी संस्थान अब पीजीडीएम और एमबीए दोनों कोर्स एक साथ नहीं चला सकेगा।

👉Check Out Here - Latest Update Sarkari Job News in Hindi

Post a Comment

0 Comments