'कॉफी विद करण' विवाद पर बोले राहुल, किसी भी काम में नहीं लग रहा था मन

नई दिल्ली : टीम इंडिया (Team India) के सलामी बल्लेबाज और विकेटकीपर की दोहरी भूमिका संभाल रहे केएल राहुल (KL Rahul) अपने प्रदर्शन के कारण पिछले कुछ समय से खूब चर्चा में हैं। जहां उन्होंने बल्लेबाजी में शानदार प्रदर्शन किया है, वहीं विकेट के पीछे भी उनका प्रदर्शन अच्छा रहा है। वह अपने सर्वश्रेष्ठ दौर से गुजर रहे हैं और उनके लिए सबकुछ अच्छा-अच्छा हो रहा है। लेकिन एक साल ऐसा नहीं था। वह मैदान पर बुरे दौर से तो गुजर ही रहे थे। इसके अलावा मैदान के बाहर की गतिविधियों के कारण भी संकट में फंस गए थे। उनके करियर में ग्रहण लग गया था। करण जौहर के शो 'कॉफी विद करण' में उन्होंने हार्दिक पांड्या के साथ शिरकत की थी और उस शो के दौरान महिलाओं को लेकर हार्दिक पांड्या की ओर से की गई टिप्पणी के कारण इन दोनों पर क्रिकेट से बैन लगा दिया गया था। अब राहुल ने उस विवाद पर अपनी चुप्पी तोड़ी है।

उमेश यादव बोले, कोच शास्त्री और कप्तान कोहली के कारण बनें विश्व में सर्वश्रेष्ठ

मेरे परिवार के लिए भी मुश्किल समय था

केएल राहुल ने कहा कि कॉफी विद करण विवाद के बाद हालांकि हर व्यक्ति उनसे यही कह रहा था कि वक्त हर जख्म भर देता है। लेकिन कोई यह नहीं देख रहा था कि यह यह गलती एक युवा खिलाड़ी से हुई है। उन्होंने बताया कि विवाद से ठीक पहले दिसंबर 2018-जनवरी 2019 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उन्होंने अच्छा प्रदर्शन नहीं किया था। इसके बाद यह हो गया। इस कारण वह काफी निराश थे। वह समय उनके परिवार के लिए भी काफी मुश्किल था। उनके माता-पिता भी इस बात को लेकर परेशान थे कि समाज क्या कहेगा।

राहुल बोले, मैं भी उदास था

केएल राहुल ने कहा कि वह झूठ नहीं बोलेंगे। उस घटना के बाद वह भी उदास थे। उनका कुछ भी करने में मन नहीं लग रहा था। कुछ करना नहीं चाहते थे। उस घटना को भूलने में ट्रेनिंग, क्रिकेट और कुछ हद तक उनकी मदद गोल्फ ने की। अब एक साल बाद जब लोग कहते हैं कि वक्त हर ने हर जख्म भर दिया या सब कुछ अच्छे के लिए होता है तो अब उन्हें उनकी बातें सही लगती हैं।

डालमिया के बेटे का सीएबी अध्यक्ष बनना तय, गांगुली के बीसीसीआई अध्यक्ष बनने के बाद से है खाली

उस घटना ने अनुशासित बनाया

राहुल ने कहा कि उन्हें एक ऐसे झटके की जरूरत थी, जहां से वह आगे बढ़ सकें। उन्हें नहीं लगता कि वह क्रिकेट के अलावा किसी भी अन्य चीज में उससे आगे हैं। उन्होंने कहा कि वह सिर्फ क्रिकेट ही अच्छा खेल सकते हैं। उस घटना के बाद उनका पूरा ध्यान क्रिकेट पर ही केंद्रित हो गया। उसने उन्हें ज्यादा मजबूत और अनुशासित बनाया। फिलहाल राहुल जबरदस्त फॉर्म में हैं। विश्व कप 2019 के बाद से वनडे में अब तक 4 बार 40 से अधिक और दो शतक लगा चुके हैं। टी-20 अंतरराष्ट्रीय की पिछली 12 पारियों में वह 6 अर्धशतक लगा चुके हैं।

Check Out Here - Daily Update Latest Cricket News in Hindi

Post a Comment

0 Comments