कोरोना का कहर अब कान फिल्म फेस्टिवल पर भी, हुआ पोस्टपोन

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण की वजह से दुनिया जैसे थम सी गई है। इसका असर फिल्म उद्योग पर भी पड़ा है। कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे के मद्देनजर कान फिल्म महोत्सव 2020 को टाल दिया गया है। रिपोर्ट केअनुसार इस समारोह में करीब 40,000 लोगों के शामिल होने की उम्मीद थी।

कोरोना का कहर अब कान फिल्म फेस्टिवल पर भी, हुआ पोस्टपोन

जून—जुलाई तक के लिए टाला
महोत्सव के आयोजकों ने कहा कि 12 से 23 मई के बीच आयोजित होने वाले इस समारोह को अब जून या जुलाई तक के लिए टाल दिया गया है। बता दें कि फ्रांस ने आठ मार्च को 1000 से अधिक लोगों के एकत्र होने पर प्रतिबंध लगा दिया था। तब से ही 73वें कान फिल्म महोत्सव के टाले जाने के कयास लगाए जा रहे थे।

फिल्मों का महाकुंभ
इसे विश्व के सबसे सम्मानजनक फिल्म उत्सवों में से एक माना जाता है। हर वर्ष मई के महीने में ही फ्रांस के कान शहर में होने वाले इस समारोह को फिल्मों का महाकुंभ कहा जा सकता है। इसमें विश्वभर के टॉप निर्देशकों की फिल्मों को प्रदर्शित किया जाता है।

कोरोना का कहर अब कान फिल्म फेस्टिवल पर भी, हुआ पोस्टपोन

रेड कार्पेट लुक रहता है चर्चा में
इस फिल्म फेस्टिवल में पूरे विश्व से फिल्मी सितारे इस महाकुंभ में पहुंचते हैं। हॉलीवुड और बॉलीवुड अभिनेत्रियों के रेड कार्पेट लुक चर्चा का विषय बनता है। पिछले साल दीपिका पादुकोण, प्रियंका चोपड़ा, मल्लिका शेरावत के अलावा टीवी स्टार हिना खान ने इस समारोह में शिरकत की थी। इससे पहले के ऐश्वर्या राय अपने कान लुक को लेकर कई बार सुर्खियां बटोर चुकी हैं।

ऑस्कर के बराबर माना जाता है अवॉर्ड
इस फेस्टिवल में चुनी गई फिल्मों में से किसी एक को Palme d'Or नाम का पुरस्कार दिया जाता है। इस पुरस्कार को फिल्म जगत ऑस्कर के बराबर माना जाता है। हालांकि सीधे तौर पर कोई नगद राशि इस पुरस्कार के विजेता को नहीं मिलती लेकिन इस पुरस्कार के बाद फिल्म को दुनियाभर में खरीदार और वितरक मिल जाते हैं।

👉Check Out Here - Latest Update Entertainment News in Hindi

Post a Comment

0 Comments