कनाडा के बाद भारत भी करेगा ओलंपिक से किनारा! IOA ने कहा- खिलाड़ियों की सुरक्षा है प्राथमिकता

नई दिल्ली। कोरोना वायरस ( CoronaVirus ) का खतरा अब 2020 टोक्यो ओलंपिक ( 2020 Tokyo Olympic ) पर भी मंडरा रहा है। खेलों के इस महाकुंभ को स्थगित किए जाने की मांग लगातार की जा रही है। अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक संघ ( international olympic committee ) के उपर पिछले काफी दिनों से खेलों को स्थगित करने का दबाव है। इस बीच भारतीय ओलंपिक संघ की तरफ से एक बहुत बड़ा बयान आया है।

IOA भी खिलाड़ियों को नहीं भेजेगा ओलंपिक खेलने!

दरअसल, IOC ने कहा है कि हम अपने खिलाड़ियों की सुरक्षा और स्वास्थ्य से बिल्कुल समझौता नहीं करेगा। समिति ने कहा है कि हम खिलाड़ियों की सुरक्षा को प्राथमिकता देंगे। आईओए के अध्यक्ष नरेंद्र बत्रा ने कहा, "मैं खेल मंत्रालय, भारतीय खेल प्राधिकरण, राष्ट्रीय खेल महासंघों और सभी हितधारकों से टोक्यो ओलम्पिक-2020 को लेकर निजी तौर पर संपर्क में हूं।"

इस सप्ताह के आखिर में लिया जा सकता है बड़ा फैसला

बत्रा ने आगे कहा, "सभी ओलम्पिक खेल अंतर्राष्ट्रीय महासंघों ने 17 मार्च को आईओसी अध्यक्ष से वीडियो कॉल की थी वहीं सभी 206 एनओसी ने भी 19 मार्च को वीडियो कॉल पर आईओसी अध्यक्ष से बात की थी। सभी एनओसी इस सप्ताह के अंत में उनकी तैयारी और उनके देशों में खिलाड़ियों के स्वास्थ को लेकर आईओसी से बात करेंगी।"

कनाडा ने किया ओलंपिक का बायकॉट

आपको बता दें कि ओलंपिक गेम्स को स्थगित किए जाने की संभावनाएं लगातार बन रही हैं। सोमवार को कनाडा ने भी कोरोना के खतरे को देखते हुए अपनी टीम को ओलंपिक में भेजने से इनकार कर दिया है।
कनाडा ने साफ तौर पर कहा है कि अगर ओलम्पिक खेल एक साल तक के लिए स्थगित नहीं होते हैं तो वह इस बार इन खेलों में हिस्सा नहीं लेगा।

ऑस्ट्रेलिया भी अपनाएगा कनाडा का रूख

कनाडा के रुख का आस्ट्रेलिया ने भी पालन किया है और कहा है कि वह टोक्यो ओलम्पिक-2020 में अपने खिलाड़ी नहीं भेजेगा और इसलिए खिलाड़ियों को 2021 की तैयारी करना चाहिए क्योंकि संभवत: ओलम्पिक खेल 2021 में हों।

आपको बता दें कि आईओए को इस संबंध में अभी फैसला लेना है। आईओसी और जापान की सरकार ने इस बात के संकेत दिए हैं कि इन खेलों को स्थिति बेहतर न होने पर स्थगित किया जा सकता है।

Check Out Here - Daily Update Latest Cricket News in Hindi

Post a Comment

0 Comments