पीसीबी ने दी खिलाड़ियों को राहत, कोरोना की लड़ाई में नहीं काटी जाएगी सैलरी

लाहौर। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ( Pakistan Cricket Board ) ने अपने खिलाड़ियों को बड़ी राहत दी है। दरअसल, बोर्ड ने साफ कर दिया है कि वो अपने खिलाड़ियों की सैलरी में किसी भी प्रकार की कोई कटौती नहीं करेगी। आपको बता दें कि माना जा रहा था कि कोरोना वायरस ( CoronaVirus ) के खिलाफ लड़ाई में बोर्ड खिलाड़ियों के वेतन में कटौती कर सकता है। हालांकि अब ऐसा नहीं किया जाएगा।

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड का फैसला, कोरोना की वजह से रमजान में भी नहीं होगा कोई क्रिकेट आयोजन

30 जून तक चलेगा पाकिस्तान का वित्तीय वर्ष

शनिवार को बोर्ड के अधिकारियों की तरफ से ये जानकारी दी गई कि कोरोना वायरस के कारण मौजूदा स्थिति की समीक्षा की जा रही है, लेकिन बोर्ड मौजूदा वित्तीय वर्ष में अपने खिलाड़ियों के वेतन में कटौती नहीं करेगा। बता दें कि पीसीबी का मौजूदा वित्तीय वर्ष 30 जून तक चलेगा।

खिलाड़ियों को बिना किसी देरी के मिलेगा वेतन

अधिकारी ने कहा, "हमारा वित्तीय वर्ष एक जुलाई से 30 जून तक चलता है। सभी खिलाड़ियों का अनुबंध (केंद्रीय और घरेलू) 30 जून तक है। 2019-20 वित्तीय वर्ष में खिलाड़ियों के वेतन में कटौती नहीं होगी। हमने इस बात को सुनिश्चित किया है कि खिलाड़ियों का मासिक वेतन बिना किसी देरी के मिले। पीसीबी करीबी से स्थिति पर नजर रख रहा है।"

दानिश कनेरिया ने युवी और भज्जी से की अपील, पाकिस्तान के अल्पसंख्यकों के बारे में भी कुछ सोच लो

इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने पुरुष-महिला खिलाड़ियों की काटी है 3 महीने की सैलरी

आपको बता दें कि पीसीबी से पहले बीसीसीआई ने भी अपने खिलाड़ियों के वेतन में कटौती करने से इनकार कर दिया था। वहीं कुछ क्रिकेट बोर्ड ऐसे हैं, जिन्होंने खिलाड़ियों की सैलरी काटने का फैसला किया है। हाल ही में इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने पुरुष और महिला खिलाड़ियों की तीन महीने की सैलरी काटने का फैसला किया था। ये वे खिलाड़ी हैं, जिनका कि इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) के साथ केंद्रीय अनुबंध है। बोर्ड की तरफ से 20 फीसदी वेतन काटने का प्रस्ताव रखा गया था, जिसे खिलाड़ियों ने स्वीकार कर लिया था।

Check Out Here - Daily Update Latest Cricket News in Hindi

Post a Comment

0 Comments