रोहित शर्मा ने कहा रिकी पोंटिंग हैं उनके पसंदीदा कोच, वह जादूगर हैं

नई दिल्‍ली : टीम इंडिया (Team India) के सलामी बल्‍लेबाज और मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) के कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने कहा कि उनके पसंदीदा कोच ऑस्‍ट्रेलिया के पूर्व कप्‍तान रिकी पोंटिंग (Ricky Ponting) हैं। उन्होंने कहा कि अब तक वह जिनके नेतृत्‍व में वह खेले हैं, उनमें वह सबसे बेहतर कोच हैं। रोहित इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में पोंटिंग की कप्तानी में खेल चुके हैं। पोंटिंग 2013 में पोंटिंग मुंबई इंडियंस के कप्तान थे, लेकिन बीच सत्र में ही कप्तानी छोड़ दी थी और रोहित शर्मा को यह जिम्मेदारी सौंपने की वकालत की थी।

महिला क्रिकेट टीम की कप्तान हरमनप्रीत बोलीं, ऑस्ट्रेलिया-इंग्लैंड से पांच साल पीछे घरेलू ढांचा

हर किसी से सीखने को मिला

लॉकडाउन में घर रह रहे रोहित शर्मा ने इंस्टाग्राम लाइव पर केविन पीटरसन को एक साक्षात्कार दिया था। उन्होंने उसी में यह खुलासा किया। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि वैसे तो बतौर अच्छा कोच किसी एक का नाम लेना मुश्किल है, क्‍योंकि सब से कुछ न कुछ सीखने को मिला है, मगर उनके लिए तो पोंटिंग जादूगर थे। उन्होंने कहा कि आईपीएल सीजन 2013 में बतौर कप्तान जिस तरह से टीम को संभाला और उसके बाद दूसरे हाफ में उन्हें कप्तानी की जिम्मेदारी पकड़ा दी। ऐसा करने के लिए बहुत हिम्‍मत होनी चाहिए।

बतौर कप्तान काफी कुछ गाइड किया

रोहित ने कहा कि इसके बाद पोंटिंग ने बतौर सपोर्ट स्‍टाफ युवा खिलाड़ियों की काफी मदद की। रोहित ने कहा कि उन्हें कप्तानी में पोंटिंग ने काफी मदद की। रोहित ने कहा कि पोंटिंग से उन्हें काफी कुछ सीखने को मिला। बता दें कि आईपीएल के सबसे कामयाब कप्तान रोहित शर्मा हैं। उन्होंने मुंबई इंडियंस को चार बार खिताब दिलाया है।

पूर्व मुख्य चयनकर्ता का खुलासा, कोच और कप्तान धोनी नहीं चाहते थे कि विराट का टीम में चयन हो

2011 की विश्व कप टीम में जगह न मिलना सबसे खराब पल

रोहित शर्मा ने इंस्टाग्राम लाइव में अपने जिंदगी के सबसे खराब पल के बारे में बात करते हुए कहा कि 2011 विश्व कप में भारतीय टीम में टीम में जगह न मिलना। उन्होंने कहा कि वह उनकी जिंदगी का सबसे दुखी पल है। उन्होंने कहा कि यह दुख इसलिए भी ज्यादा गहरा है, क्योंकि यह विश्व कप भारत में हुआ था और इसका फाइनल उनके घर मुंबई में खेला गया था। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि उस साल उनका प्रदर्शन भी ऐसा नहीं था। इसी कारण उनका चयन 2011 में विश्व कप में नहीं हो पाया था।

Check Out Here - Daily Update Latest Cricket News in Hindi

Post a Comment

0 Comments